वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से की प्रधानमंत्री ने मिशन शक्ति में शामिल वैज्ञानिकों से बात

0
191

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज राष्ट्र को संबोधित करने के तुरंत बाद ‘मिशन शक्ति’ के सफल संचालन में शामिल वैज्ञानिकों से विडियो कांफ्रेंस के माध्यम से बातचीत की। ‘मिशन शक्ति’ के सफल परीक्षण से भारत अब एंटी सैटेलाइट मिसाइल के माध्यम से सैटेलाइटों पर सफलतापूर्वक मार करने की क्षमता रखने वाला विश्व का चौथा देश बन गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मिशन शक्ति’ की सफलता पर वैज्ञानिकों को बधाई देते हुए कहा कि निर्धारित लक्ष्य को हासिल करने के लिए पूरा देश अपने वैज्ञानिकों पर गर्व कर रहा है।

उन्होंने कहा कि मेक-इन इंडिया पहल के अनुरूप वैज्ञानिकों ने विश्व को यह संदेश दिया है कि हम किसी से कम नहीं हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत सदैव ही वसुधैव कुटुंबकम के दर्शन का अनुसरण करता है। इसके अनुसार पूरा विश्व एक परिवार है। लेकिन प्रधानमंत्री ने इस बात पर बल दिया कि शांति और सद्भाव के लिए काम करने वाली शक्तियों को शांति की प्राप्ति के लिए हमेशा शक्ति संपन्न बने रहना होगा।

प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि वैश्विक शांति और क्षेत्रीय शांति के लिए भारत को सक्षम और मजबूत बनना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि इस प्रयास में वैज्ञानिकों ने समर्पण के साथ योगदान दिया है। उन्होंने केन्द्रीय मंत्रिमंडल की ओर से वैज्ञानिकों को बधाई दी।

वैज्ञानिकों ने अपने कौशल को सिद्ध करने का मौका देने के लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here