CA एग्जाम से न घबराएं, चुनें सही शिक्षण संस्थान को

0
34





आधुनिक दौर में अपने बेहतर करियर के लिए एक अच्छी फील्ड को चुनना बहुत ही जरूरी है, जो भविष्य में चलकर न केवल एक अच्छा लाइफस्टाइल देती है बल्कि लाइफ सिक्योर भी करती है। ऐसे में इस तरह की अच्छी नौकरी के लिए लाखों उम्मीदवारों में कड़ी प्रतिस्पर्धा रहती है।

ऐसे तेजी से विकसित हो रही अर्थव्यवस्था में फाइनेंस और अकाउंट्स से जुड़े करियर की ओर लोगों का अधिक रुझान बढ़ता जा रहा। इसी कारण से चार्टर्ड अकाउंटेंट एक बेहतरीन करियर ऑप्शन के रूप में युवाओं का आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। चार्टर्ड अकाउंटेंट हर तरह की फाइनेंशियल और इकोनॉमिकल एक्टिविटीज में एक्सपर्ट होते हैं। इन सब खूबियों के चलते हर जगह सीए की मांग रहती है। यही कारण है कि लगभग हर कंपनी और संस्थान में इनकी जरूरत होती है। किसी भी संस्थान में चार्टर्ड अकाउंटेंट अथवा सीए का काम बेहद सम्मानजनक एवं चुनौतीपूर्ण होता है। देश में कई एमएनसीज के आने से और टैक्स रूल्स में बदलाव आने के कारण सीए प्रोफेशनल्स के लिए नौकरी के अवसर और भी बढ़े हैं।

नौकरी के व्यापक अवसर

बीते कई वर्षों में चार्टर्ड अकाउंटेंट के कार्यक्षेत्र पहले से दो गुना हो गया है। अब ये सिर्फ अकाउंट तक सीमित नहीं है, बल्कि इसके अंतर्गत कई करियर ऑपशन्स बढ़ गए हैं। आइए जानते हैं कि इस फील्ड में युवाओं के पास क्या- क्या करियर ऑप्शन्स हैं-

  • फाइनेंस मैनेजर
  • अकाउंट्स मैनेजर
  • फाइनेंशियल बिजनेस एनालिस्ट
  • ऑडिटिंग/इंटरनल ऑडिटिंग
  • स्पेशल ऑडिटर्स सहित चेयरमैन
  • मैनेजिंग डायरेक्टर
  • सीईओ
  • फाइनेंस डायरेक्टर
  • फाइनेंशियल कंट्रोलर
  • चीफ अकाउंटेंट
  • चीफ इंटरनल ऑडिटर आदि

विभिन्न पदों के लिए शैक्षणिक योग्यता:

सीए की प्रवेश परीक्षा में बैठने के लिए उम्मीदवार का 12वीं पास होना अनिवार्य है। किसी भी स्ट्रीम (आर्ट्स, साइंस, कॉमर्स) से बारहवीं करने वाले छात्र इस प्रवेश परीक्षा को दे सकते हैं। सीए की इस परीक्षा का फाउंडेशनके नाम से भी जाना जाता है। इसके लिए सबसे पहले चरण में छात्रों को एंट्री लेवल कोर्स CA Foundation में प्रवेश लेना होता है। इसके बाद CA Intermediate एवं अंत में CA Final कोर्स करना होता है। इसके बाद छात्र आईसीएआई में मेंबरशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं।

चार्टर्ड अकाउंटेंट सलेक्शन प्रणाली:

CA कोर्स की सलेक्शन प्रणाली में 3 लेवल्स होते है – Foundation, Intermediate, और Final. अर्थात एक CA बनने के लिए आपको इन सभी पड़ाव को पास करना जरूरी होता है। अगर आप भी CA बनना चाहते है, तो जानिए इस परीक्षा के हर लेवल के बारे में।

लेवल वन – फाउंडेशन : यह एक एंट्रेंस टेस्ट होता है, जिसमें चार विषय शामिल होते हैं। इसका पेपर पेटर्न और सिलेबस 12th कॉमर्स स्ट्रीम के सिलेबस के काफी समान होता है। इस वजह से कॉमर्स स्ट्रीम के छात्रों को इसे पास करने में काफी मदद मिलती है। वहीं साइंस और आर्ट्स के विद्यार्थियों के इस level को पास कर पाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। पिछले कुछ सालों के CPT व Foundation के समंको के अनुसार केवल 30 % छात्र ही इस पहले लेवल को पास कर पाते हैं।

लेवल टू – इंटरमीडिएट : यह लेवल 2 ग्रुप में विभाजित है, जिसके हर ग्रुप में 4 विषय हैं। इस वजह से इस लेवल का सिलेबस बहुत बड़ा हो जाता है। इसे अगली परीक्षा तक यानी 8 महीनों में खत्म कर पाना मुश्किल होता है। ज्यादा सिलेबस और कम समय होने की वजह से कम छात्र ही इस लेवल को एक बार में क्लियर कर पाते हैं।

लेवल थ्री – फाइनल : सीए परीक्षा के इस अंतिम लेवल में भी 2 ग्रुप होते होते हैं। इसके हर ग्रुप में 4 विषय होते हैं। बड़े सिलेबस और मुश्किल पेपर पैटर्न के चलते बहुत कम छात्र ही इसे पार कर पाते हैं।

सीए की इस सलेक्शन प्रणाली के चलते इसे कोर्स को बहुत कठिन माना जाता है। इस वजह से कई छात्रों का पहले से ही आत्मबल कम होने लगता है। लेकिन सही तरीके और बेहतर इंस्टीट्यूट की मदद से इस परीक्षा को आसानी से पास किया जा सकता है। तो अगर आप भी 12वीं के बाद इस प्रोफेशन को अपनाना चाहते हैं, तो कड़ी मेहनत और परिश्रम के अलावा अपनी सूझ- बुझ से बेहतर शिक्षा संस्थान भी चुने। जो आपके सीए बनने की ख़्वाहिश को पूरा कर, आपको एक प्रतिष्ठित नौकरी का दावेदार भी बनाए।

चुने बेहतर शिक्षा संस्थानों को :

किसी भी बेहतर जॉब या पद के लिए जितना ज्ञान की जरूरत है उतनी ही अच्छी व आधुनिक शिक्षण प्रणाली की भी जरूरत होती है। इसलिए एक सफल करियर के लिए हमेशा बेहतर इंस्टीट्यूट को चुनना चाहिए, जो बेहतर शिक्षा प्रणाली के चलते आपको प्रतिष्ठित नौकरी का उम्मीदवार भी बनाए। कई बार स्टूडेंट्स कम फीस या डिस्काउंट के झांसे में आकर गलत संस्थान का चयन कर लेते हैं जिसका खामियाजा उनको CA exam के result वाले दिन चुकाना पड़ता है। इसलिए शिक्षण संस्थान को चुनते समय इन सभी बातों को ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है ।

अगर शिक्षा संस्थान बेहतर हो तो इसकी आपके घर से दूरी कोई मायने नहीं रखती, इसका सही उदाहरण जयपुर के एक खास संस्थान में देखने को मिलता है। जयपुर का यह विद्या सागर करियर इंस्टीट्यूट (VSI) देश भर में सबसे बेहतर शिक्षा संस्थान है जहां पूरे देश से छात्र व् छात्राएं CA की तैयारी के लिए आते हैं। बेहतर शिक्षा प्रणाली और उत्तम रिज़ल्ट के चलते यहां जम्मू से लेकर मस्कट जैसी कई जगहों सेछात्र कोचिंग लेने आते हैं। VSI में छात्रों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए हिन्दी और इंग्लिश मीडियम के अलग अलग बैच में क्लासेज दी जाती हैं। परीक्षा के समय हिन्दी व इंग्लिश दोनों ही भाषाओं में नोट्स भी उपलब्ध करवाए जाते हैं।

विद्या सागर करियर इंस्टीट्यूट कैसे है बेहतर :

  • VSI भारत का एकमात्र संस्थान है, जिसने पिछले 8 वर्षों में CA में 5 बार ऑल इंडिया 1st रैंक दी है जो, इसकी गुणवत्ता और उचित मार्गदर्शन को दर्शाता है। इसके अलावा, VSI ने CS एक्जीक्यूटिव में भी All India 1st रैंक दी है।
  • CA Exams में 2 बार Ever Highest Marks देने का रिकॉर्ड भी VSI के नाम ही है ।
  • हर लेवल की परीक्षा के अनुसार माहौल छात्रों को नियमित रूप से Mock Test सीरीज़ प्रदान की जाती है।
  • छात्रों की सहूलियत के हिसाब से एक्सट्रा क्लास भी दी जाती हैं, ताकि कोर्स के प्रति हर समस्या का समाधान हो सके।
  • प्रसिद्ध एवं प्रशिक्षित प्रोफेशनल्स द्वारा क्लासेज उपलब्ध करवाई जाती हैं।
  • 11वीं और 12वीं से ही छात्रों को सीए की पढ़ाई के लिए तैयारी करवाई जाती है, ताकि छात्र शुरुआती स्तर से ही इस परीक्षा के लिए अपनी बुनियाद मजबूत कर सकें.

ये ही नहीं बल्कि VSI ने 2018 में केवल 7 स्टूडेंट्स के CA Final के बैच में से All India First Rank (Atul Agarwal) दे कर अपनी गुणवत्ता और उचित मार्गदर्शन का लोहा पूरे देश में मनवाया। तथा इसी क्रम में CA Final May 2019 में भी VSI ने केवल 'एक' स्टूडेंट पढ़ाया (all subjects) और उसी स्टूडेंट Ajay Agarwal ने अब तक के सबसे अधिक अंकों के साथ All India First Rank हासिल कर VSI के बेहतरीन मार्गदर्शन को साबित कर दिखाया। इन्हीं सब बेहतर सुविधाओं और शिक्षण प्रणाली के चलते हर साल इस इंस्टीट्यूट से कई छात्र सीए बन कर निकलते हैं। अगर आप भी सीए बन कर एक प्रतिष्ठित जॉब पाना चाहते हैं, जो आपको सम्मान देने के साथ आपका भविष्य भी फाइनेंशियल रूप से मजबूत करे, तो विद्या सागर करियर इंस्टीट्यूट (VSI) आपके इस सपने को पूरा कर सकता है। इसलिए संस्थान का चुनाव करते समय केवल और केवल Past Result पर ध्यान दें ना कि कम दूरी अथवा फीस को। ये छात्र के टेलेंट के स्टैंडर्ड के हिसाब से उसे ट्रेन करता है। आपभीVSI से कोचिंग ले कर आप भी अपना भविष्य संवार सकते हैं।

साल 2019 में All India First Rank प्राप्त करने वाले VSI छात्र अतुल अग्रवाल का विडियो देखें।

[youtube https://www.youtube.com/watch?v=DvOWg3OU9Uo]

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Do not be afraid of CA exam, choose the right educational institution



Source link

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here