हेट क्राइम की शिकार भारतीय मूल की बच्ची कोमा में, मदद के लिए 7 दिन में जुटाए गए 4 करोड़ रु.

0
134





वाशिंगटन. भारतीय मूल की13 वर्षीय बच्ची के इलाज के लिए अब तक4करोड़ रु. से ज्यादा फंड जुटा लिए गए हैं। पिछले महीने एक बाइक सवार ने बच्ची और उसके घरवालों को मुस्लिम समझकर जानबूझकर टक्कर मार दी थी। बच्ची को गंभीर चोटें आईं थीं, तब से वह कोमा में है।

3करोड़ रु. जुटाने का लक्ष्य

रिपोर्ट्स के मुताबिक, गो फंड मी पेज के जरिए सातवीं में पढ़ने वाली धृति नारायण के परिवार की मदद की गई। इलाज के लिए करीब 3करोड़ रु. जुटाने का ही लक्ष्य था। सात दिन पहले इलाज के लिए फंड जुटाने की अपील की गई थी। अब तक 12,360 से ज्यादा लोगों ने पैसा डोनेट किया। फंडरेजर साइट पर लोगों से अपील की गई है कि हम धृति के जल्दी से ठीक होने के लिए प्रार्थना कर रहे हैं। लेकिन उसके इलाज के लिए पैसों की आवश्यकता है।

घटना में भाई और पिता को भी आई थीं चोट

23 अप्रैल को धृति और उसके घर के सदस्य कैलिफोर्निया के सनीवेल में सड़क पार कर रहे थे। इसी दौरान एकमोटर साइकिलसवार ने उन्हें जानबूझकर नीचे गिरा दिया। धृति, उसके पिता राजेश नारायण और 9 साल का भाई प्रखर घायल हो गए थे। घटना में 4 अन्य लोग भी घायल हुए थे। जांच में सामने आया कि मोटरसाइकिल सवार ने मुस्लिम समझकर धृति और उसके परिजनों को टक्कर मारी थी। अदालत में सुनवाई के बाद मोटरसाइकिल सवार पर हत्या के प्रयासकेआरोप तय किए गए थे। मामले की अगली सुनवाई 16 मई को होगी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


अस्पताल में भर्ती धृति नारायण।



और पढ़ें

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here