राजनाथ ने की राफेल की पूजा तो कांग्रेस को हो रही तकलीफ: अमित शाह

0
12


हरियाणा के कैथल में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने विपक्ष पर जोरदार हमला किया। अमित शाह ने कहा कि अभी-अभी चुनाव शुरू हुआ है और हमारे विरोधियों को मालूम ही नहीं पड़ रहा कि चुनाव की शुरुआत पूरब से करें, पश्चिम से करें, उत्तर से करें या दक्षिण से करें उनके पास कोई दिशा नहीं है। शाह ने कहा कि कल विजयादशमी थी, जो बुराई पर अच्छाई की प्रतीक है और यह शस्त्र पूजन करके मनाई जाती है। मैं देश के प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री को बधाई देता हूं कि कल के ही दिन उन्होंने राफेल को हमारी वायुसेना में शामिल करके, देश कि सुरक्षा को सुदृढ़ करने का काम किया है। 

 
देश के गृह मंत्री का भी जिम्मा संभाल रहे शाह ने काह कि PM मोदी ने राफेल को शामिल किया और राजनाथ ने फ़्रांस की भूमि पर विजयादशमी के दिन उसका शस्त्र पूजन किया, लेकिन कांग्रेस वाले उसका भी विरोध कर रहे हैं। मैं इनसे कहना चाहता हूं कि तनिक रात को सोचा करो, किस बात का विरोध करना है, किसका नहीं। उन्होंने अनुच्छेद 370 के खात्मे का जिक्र करते हुए कहा कि 70 साल से देश के हर नागरिक के मन में एक कसक थी कि जम्मू-कश्मीर देश के साथ पूरा जुड़ा हुआ नहीं था। तीन-तीन पीढ़ियों तक शासन करने वालों में भी 370 हटाने की हिम्मत नहीं थी। शाह ने कहा नरेन्द्र मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक करके पूरी दुनिया को बताया है कि भारत की सीमाओं के साथ कोई खिलवाड़ नहीं कर सकता और भारत के सैनिकों की जान की कीमत हम जानते हैं। अमेरिका में #HowdyModi कार्यक्रम हुआ और पूरे विश्व ने मोदी जी की तारीफों के पुल बांधे। मोदी जी ने भारत का सम्मान दुनिया में बढ़ाने का काम किया है। 
शाह ने कहा कि जब भी हरियाणा में सरकार बनती थी वो विशेष जातियों के लिए बनती थी। एक सरकार आती थी तो वो एक जाति का काम करती थी, दूसरी आती थी दूसरी जाति का काम करती थी। मनोहर लाल खट्टर सरकार ऐसी बनी जिसकी कोई जाति नहीं है, ये सरकार हर हरियाणा वासियों की सरकार है। हरियाणा देश भर में बदनाम था कि यहां बेटियां कम जन्म लेती हैं। प्रधानमंत्री जी यहां आएं और उन्होंने अपील की ‘बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ’ हरियाणा का नारा बनना चाहिए।आज हरियाणा ने ‘बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ’ अभियान को सार्थक कर दिया है। 
 





Source link

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here