मैरियट की पांच साल में 120 इंटरनेशनल स्तर के होटल खोलने की योजना, छोटे शहरों में भी जॉब्स होंगे

0
22





नई दिल्ली. भारतीय अर्थव्यवस्था में अहम योगदान देने वाली हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री में नौकरियों की संभावनाएं बनी हुई है। संवाद शैली और सेवा भाव से भरपूर इस इंडस्ट्री में वर्ष 2028 तक एक करोड़ नए रोजगार पैदा हो सकते हैं। अगले तीन साल में 12 इंटरनेशनल होटल चेन भारत में दस्तक दे सकते हैं। जॉब व कॅरियर ग्रोथ को लेकर दैनिक भास्कर ने कंपनी के साउथ एशिया के ह्यूमन रिसोर्स सीनियर एरिया डायरेक्टर गुरमीत सिंह से विशेष बातचीत की।

मौजूदा समय में होटल इंडस्ट्री में किस प्रकार के रोजगार उपलब्ध हैं?
हमारे यहां विभिन्न स्किल वाले लोग एक साथ काम करते हैं। हमारे पास इंजीनियरिंग, फाइनेंस, ह्यूमन रिसोर्स, रेवेन्यू मैनेजमेंट, सेल्स एंड मार्केटिंग, ऑपरेशंस, टेक्नोलॉजी आदि के पद हैं। एचआर, वित्त, इंजीनियरिंग, बिक्री और मार्केटिंग जैसे कामों के लिए, हम संबंधित क्षेत्र में बैचलर की डिग्री या पीजी की डिग्री पसंद करते हैं। आतिथ्य प्रबंधन में डिप्लोमा या डिग्री के साथ प्रवेश स्तर के पदों के लिए उच्च माध्यमिक डिग्री की न्यूनतम आवश्यकता जरूरी है।

मैरियट में भर्ती प्रक्रिया कैसी है? क्या कैंपस प्लेसमेंट के अतिरिक्त भी जॉब के लिए आवेदन किया जा सकता है?
हमारा खुद का जॉब पोर्टल मैरियट करियर है। इसके साथ ही कैंपस रिक्रूटमेंट वाला ग्लोबल यूनिवर्सिटी ग्रेजुएट डेवलपमेंट प्रोग्राम भी है जिसे वोएज के नाम से जाना जाता है। कई होटलों के साथ, हम अपने सहयोगियों को क्रॉस ट्रेनिंग / टास्क फोर्स असाइनमेंट / प्री-ओपनिंग सहायता का अवसर प्रदान करते हैं।

नौकरी चाहने वालों को अपने साक्षात्कार के लिए कैसे तैयार होना चाहिए?
मैरियट की संस्कृति इसके 5 मुख्य मूल्यों यानी अपने से लोगों को पहले रखना, उत्कृष्टता को बढ़ावा देना, परिवर्तन को बदलना, ईमानदारी के साथ कार्य करना और हमारी दुनिया की सेवा करने पर आधारित है। हम प्रतिभा की तलाश में इन मूल्यों की खोज करते हैं।

वर्तमान समय में एआई और बिग डेटा का कितना असर है?
एआई हमारे उद्योग के संचालन के तरीके को बदल देगी। कुछ साल पहले तक, राजस्व प्रबंधन नामक कोई विभाग नहीं था। आज यह हमारे उद्योग का एक अनिवार्य हिस्सा है। अब मेहमान होटल की सारी सुविधाओं को लाभ बगैर किसी से बात किए उठा सकते हैं।

क्या आप बता सकते हैं कि इस क्षेत्र में भविष्य में नौकरी की क्या संभावनाएं हैं?
भारत अगले एक दशक में महाशक्ति बनने की कगार पर है। इसलिए ट्रेवल, बिजनेस और छुट्टियां न केवल महानगरीय शहरों में बल्कि टियर II और टियर III शहरों में भी होटल इंडस्ट्री के अवसर बढ़ाएगी। आज हम नागपुर, रायपुर, बिलासपुर, श्रीपेरुम्बुदूर जैसे कई स्थानों पर जा रहे हैं।

क्या हाल के वर्षों में भर्ती प्रक्रिया में कोई बदलाव हुआ है?
हम ऐसी दुनिया में रह रहे हैं, जहां उम्मीदवारों के पास चुनने के लिए कई विकल्प हैं। हम मैरियट में मोबाइल फ्रेंडली ऐप के जरिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया अपनाते हैं। इससे हमें काम पर रखने की प्रक्रिया के प्रबंधन के कुशल तरीके मिलते हैं। वैसे, अब कंपनियां और उम्मीदवार सीधे व्हाट्सएप, फेसबुक मैसेंजर, लिंक्डइन और अन्य प्लेटफार्मों के माध्यम से पहुंचते हैं। साक्षात्कार अब एक कमरे में आयोजित नहीं किए जा रहे हैं। यह लॉबी, एक रेस्तरां या यहां तक कि चलते-चलते भी हो सकता है।

2028 तक 5 करोड़ को रोजगार देगी हॉस्पिटैलिटी

  • भारत में वर्ष 2020 तक इंटरनेशनल होटल चेन का हिस्सा 47 प्रतिशत और 2022 तक 50 प्रतिशत हो जाएगा।
  • स्टार्टअप्स और ऑनलाइन से टियर-2 और 3 में डिमांड बढ़ने की उम्मीद।
  • वर्ष 2018 में 1.56 विदेशी टूरिस्ट भारत आए थे। वर्ष 2028 तक यह संख्या 3.05 करोड़ हो जाएगी।
  • अगले पांच साल में 40 ब्रांड्स भारत आ सकते हैं।
  • भारत में कमरों की डिमांड 6.8% से बढ़ रही है जबकि सप्लाई सिर्फ 3% है।

इनमें रोजगार के अवसर हैं

  • मार्केटिंग ऑफ सर्विसेज
  • इवेंट मैनेजमेंट
  • हॉस्पिटैलिटी लॉ फैसिलिटी प्लानिंग
  • डायरेक्टर ऑफ होटल ऑपरेशन
  • शेफ
  • फ्लोर सुपरवाइजर
  • हाउस कीपिंग
  • मैनेजर गेस्ट सर्विस
  • सुपरवाइजर वेडिंग को-ऑर्डिनेटर
  • सर्विस मैनेजर
  • फूड एंड बेवरेज मैनेजर फ्रंट ऑफिस मैनेजर

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


गुरमीत सिंह, मैरियट के सीनियर एरिया डायरेक्टर, एचआर (साउथ एशिया)।



Source link

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here