पिछले 6 माह में पहली बार घटी खुदरा महंगाई, जुलाई में सीपीआई गिरकर 3.15% पर

0
10





नई दिल्ली. इस साल जुलाई में खुदरा महंगाई की दर 0.03 % घटी है। जुलाई में खुदरा महंगाई 3.15 % रही है। यह दर पिछले छह माह में पहली बार गिरावट दर्ज हुई है। पिछले वित्त वर्ष के इसी महीने में यह स्तर 4.17 पर था। जून में महंगाई का स्तर 3.18 % था।

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय के द्वारा जारी आंकड़ों मुताबिक, जुलाई में सब्जियों की खुदरा महंगाई का स्तर घटकर 2.82 % पर आ गई। यह स्तर जून में 4.66 % पर थी। दालों की खुदरा महंगाई बढ़कर 6.82 % हो गई, जो जून 2019 में 5.68 % थी। जुलाई में खाद्य पदार्थों की खुदरा महंगाई जून के 2.25 % से बढ़कर 2.36 % पर पहुंच गई।

जुलाई माह में मोटे अनाजों की कीमतों में तेजी देखी

आंकड़ों के अनुसार, बीते माह में मोटे अनाज की कीमतों में 4.28 %, मांस मछली में 7.81 %, सब्जी में 13.13 फीसदी और दाल-दलहन में 14.48 % की तेजी देखी गई है। हालांकि चीनी में 0.09 % की गिरावट आई है। अन्य मदों में अंडा के दामों में 2.44 %, दूध एवं दुग्ध उत्पाद में 2.13 %, फल में 3.34 %, मसाले 0.93 %, शीतल पेय 2.13 % और तैयार आहार की कीमतों में 4.15 % बढ़ोतरी हुई है।

हाउसिंग सेक्टर में महंगाई दर बढ़ी है

जुलाई माह के आंकड़ों के अनुसार, फ्यूल एंड लाइट के लिए खुदरा महंगाई -0.36 % रही, जो जून 2019 में 2.32 % थी। हाउसिंग सेक्टर के मामले में खुदरा महंगाई जून के 4.84 % से बढ़कर 4.87 % पर पहुंच गई। क्लोथिंग एंड फुटवियर की खुदरा महंगाई जुलाई में बढ़कर 1.65 % हो गई। यह जून में 1.52 % पर थी।

आरबीआई को खुदरा महंगाई दर 4 % रखने का लक्ष्य

कारोबारियों के अनुसार, बाजार में माल की आवक बनी हुई है। हालांकि कुछ मदों की आवक सख्त है। सरकारी सूत्रों के मुताबिक महंगाई नियंत्रण से संबंधित अंतर मंत्रालय समिति लगातार बाजार की स्थिति पर नियंत्रण रखे हुए हैं। समय-समय पर मूल्य स्थिरीकरण से बाजार में हस्तक्षेप किया जा रहा है। सरकार ने केंद्रीय बैंक को खुदरा महंगाई दर 4 % के दायरे में रखने का लक्ष्य दिया है।

DBApp

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Retail inflation dips slightly to 3.15% in July despite costlier food items



Source link

Leave a Reply