धमाकों में 200 बच्चों ने परिवार खोया, सदमे से उबरने के लिए चश्मदीदों ने की काउंसलिंग की मांग

0
133





कोलंबो. श्रीलंका में ईस्टर संडे के मौके पर हुए सिलसिलेवार धमाकों में 200 से अधिक बच्चों ने अपने परिवार को खोया है। यह दावा कोलंबो स्थित लीडिंग चैरिटी संगठन श्रीलंका रेड क्रॉस सोसाइटी ने किया है। संगठन का कहना है कि कुछ लोगों के पास अपना जीवन फिर से शुरू करने के लिए आवश्यक रुपए तक नहीं हैं।

  1. संगठन के मुताबिक लोगों के पास सामान्य जीवन शुरू करने के पर्याप्त पैसे नहीं हैं। संगठन ने बताया कि हमलों में कुछ परिवारों ने अपने अकेले कमाने वालों को खोया है। ऐसे में उनकी आय का स्रोत नहीं बचा है। इस हमले में जख्मी लोगों के कारण 75 परिवारों के सामने रोजी-रोटी का संकट है।

  2. एसएलआरसीएस ने कहा कि घटना से सीधे तौर पर प्रभावित लोगों, चश्मदीदों को ‘मनोवैज्ञानिक प्राथमिक उपचार’(पीएफए) देने की जरूरत है। इससे उन्हें हमले को भुलाने में मदद मिलेगी ताकि वे जिंदगी को पटरी पर ला सकें।

  3. श्रीलंका के शीर्ष नेतृत्व ने मंगलवार को बताया कि ईस्टर संडे को हुए धमाकों में शामिल सभी आतंकवादी या तो मारेगए हैं या फिर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। मगर अब भी हमले का खतरा बना हुआ है।

  4. श्रीलंका में ईस्टर संडे के मौके पर हमलावरों ने तीन चर्च और 3 लग्जरी होटल समेत कुछ स्थानों को निशाना बनाया था। इसमें 250 से अधिक लोगों की मौत हुई जबकि 500 से ज्यादा घायल हुए थे। हमले की जिम्मेदारी आईएसआईएस आतंकी समूह ने ली थी। सरकार ने स्थानीय इस्लामी चरमपंथी संगठन नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) को दोषी माना।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      प्रतीकात्मक फोटो।



      और पढ़ें

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here