झारखंड में तीन पूर्व मुख्यमंत्री मैदान में, भाजपा के गढ़ में महागठबंधन की घेराबंदी

0
156





रांची. झारखंड मेंसभी 14 सीटों पर भाजपा-ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन(आजसू) गठबंधन और महागठबंधन उम्मीदवार आमने-सामने हैं। 8 पर मुकाबला एक ही जाति के उम्मीदवारों के बीच है।तीन पूर्व मुख्यमंत्री चुनाव लड़ रहे हैं। राज्य की तस्वीर साफ हो चुकी है, लेकिन इसे समझना एक पहेली है। दिवंगतअटल बिहारी वाजपेयी जी के साथी इंदर सिंह नामधारी कहते हैं कि जातिगत समीकरण जितने अच्छे से समझेंगे, ये पहेली उतनी आसान होगी।

भाजपा का दावा है कि आदिवासियों में गैर मिशनरी सरना वोट उसे मिलेगा। ग्राउंड पर भाजपा के दावे में 25% सच्चाई भी दिखती है। बाकी मिशनरी आदिवासी वोट महागठबंधन के खाते में जाएंगे। जातिगत गणित में अधिकतर सीटों पर झारखंड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस, झारखंड विकास मोर्चा और राष्ट्रीय जनता दल का महागठबंधन आगे है। इसमें मोदी फैक्टर (राष्ट्रवाद) कितनी सेंध लगाएगा और झारखंड सरकार के विकास के दावे कितना वोट बदलेंगे, यह देखना होगा। वैसे ग्राउंड पर माहौल भाजपा का है।

झारखंड का असली चेहरा संथाल है और यहां की दुमका सीट पर झामुमो अध्यक्ष, आठ बार सांसद रहे शिबू सोरेन (दिशोम गुरु/गुरुजी) लड़ रहे हैं। सीट पर कब्जे के लिए भाजपा पूरा जोर लगा रही है। दो बार हार चुके सुनील सोरेन को उतारा है। पूरी भाजपा एकसुर है कि उसने संथाल में विकास करवाया है। इसका फायदा मिलेगा, लेकिन चर्चा में एक ही जवाब है-गुरुजी आखिरी चुनाव कहकर पोस्टर जारी करवा देंगे तो जीत जाएंगे। इस तर्क को जातिगत आंकड़े काफी सपोर्ट करते हैं। यहां 40% आदिवासी और 18% मुस्लिम वोटर हैं। 7% पिछड़ी, शेष 5 फीसदी में अगड़ी और अन्य जातियां हैं। दुमका के साथ राजमहल सीट पर झामुमो को मजबूत माना जा रहा है। गोड्डा में भाजपा सांसद निशिकांत दुबे और झाविमो के प्रदीप यादव में टक्कर है, लेकिन कांग्रेस के फुरकान अंसारी के खड़े होने से निशिकांत की राह आसान हो जाएगी।

पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी कोडरमा से मैदान में हैं। यहां सांसद रवींद्र राय (भूमिहार) का टिकट काटकर राजद से भाजपा में आई अन्नपूर्णा देवी को प्रत्याशी बनाया गया है। तीसरे उम्मीदवार भाकपा (माले) के राजकुमार यादव (धनवार विधायक) हैं। यह यादव-मुस्लिम (करीब 25 फीसदी) बहुल क्षेत्र है और अन्नपूर्णा व राजकुमार दोनों ही यादव जाति से हैं। राजकुमार जितना वोट अन्नपूर्णा देवी के खाते से लेंगे, माले कैडर के कारण नुकसान बाबूलाल को होगा। एक लाख भूमिहार मतदाताओं पर भी नतीजा तय होगा।

पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा भाजपा का आदिवासी चेहरा हैं। खूंटी में उनके सामने कांग्रेस के कालीचरण मुंडा हैं, जो सरकार में नंबर दो की हैसियत रखने वाले मंत्री नीलकंठ मुंडा के बड़े भाई हैं। दिलचस्प ये कि नीलकंठ ही खूंटी लोकसभा क्षेत्र के प्रभारी हैं और उन्हीं के घर को अर्जुन अपना ठिकाना बनाए हुए हैं। खूंटी के 12 लाख मतदाताओं में करीब 6.50 लाख आदिवासी हैं। इनमें 3.75 लाख सरना हैं, जिनमें मुंडा सबसे अधिक। दो मुख्य प्रत्याशी भी मुंडा। यहां 1.75 लाख आदिवासी मिशनरी कांग्रेस के पक्ष में हैं।

पलामू-लोहरदगा में भी एक ही जाति के उम्मीदवारों में मुकाबला है। लोहरदगा में केंद्रीय राज्य मंत्री सुदर्शन भगत और कांग्रेस के सुखदेव भगत तो पलामू में भाजपा सांसद बीडी राम से राजद के घूरन राम की टक्कर है। चतरा एकमात्र ऐसी सीट है, जहां महागठबंधन के घटक दल आमने-सामने हैं। कांग्रेस से मनोज यादव, तो राजद से सुभाष यादव। भाजपा प्रत्याशी सांसद सुनील सिंह को भी राहत नहीं है क्योंकि उनके ही दल के राजेंद्र साहू निर्दलीय लड़ रहे हैं।

भाजपा के गढ़ पर महागठबंधन की घेराबंदी

हजारीबाग-रांची-धनबाद-जमशेदपुर में महागठबंधन पूरा जोर लगा रहा है। यहां कुर्मी वोट काफी है। आजसू के साथ गठबंधन से भाजपा मजबूत हो गई है। हजारीबाग में केंद्रीय राज्यमंत्री जयंत सिन्हा के मुकाबले कांग्रेस ने गोपाल साहू को उतारा है। झामुमो विधायक जयप्रकाश भाई पटेल के भाजपा में आने से जयंत की राह आसान है। रांची में भाजपा प्रत्याशी संजय सेठ और कांग्रेस के सुबोधकांत आमने-सामने हैं। यहां भाजपा से बेटिकट सांसद रामटहल चौधरी के निर्दलीय खड़ा होने का असर पड़ेगा।

धनबाद में भाजपा सांसद पीएन सिंह के सामने कांग्रेस के कीर्ति आजाद हैं। बाहरी उम्मीदवार के कारण कांग्रेस को अपनों से ही निपटना है। जमशेदपुर में भाजपा सांसद विद्युतवरण महतो और झामुमो के चंपई सोरेन में मुकाबला है। जमशेदपुर से लगी सिंहभूम (चाईबासा) सीट पर मधु कोड़ा की पत्नी गीता कोड़ा को कांग्रेस ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा के खिलाफ उतारा है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता हेमंत सोरेन (बीच में)।



Source link

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here