जीत के बाद कप्तान हरमनप्रीत कौर बोलीं, ''टीम के बल्लेबाजी प्रदर्शन से नर्वस थी''

0
12


सूरत। भारतीय महिला क्रिकेट कप्तान हरमनप्रीत कौर ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यहां पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में टीम के लचर बल्लेबाजी प्रदर्शन से वह काफी नर्वस हो गयी थी लेकिन गेंदबाजों ने चुनौती से निपटकर जीत दिलायी। हरमनप्रीत एकमात्र भारतीय बल्लेबाज रहीं जिन्होंने 43 रन की पारी खेली जबकि बाकी अन्य साथी खिलाड़ी कोई उपयोगी योगदान नहीं कर सकीं। इससे भारत ने मंगलवार को बल्लेबाजी का न्यौता मिलने के बाद 130 रन का स्कोर बनाया। ‘प्लेयर आफ द मैच’ दीप्ति शर्मा (आठ रन देकर तीन विकेट) की अगुवाई में गेंदबाजों ने प्रभावित किया और इस प्रदर्शन से दक्षिण अफ्रीका को 19.5 ओवर में 119 रन पर समेट दिया। 

इसे भी पढ़ें: बोर्ड अध्यक्ष XI की अगुआई करेंगे रोहित शर्मा, टेस्ट मैचों से पहले होगा कप्तानी का टेस्ट

हरमनप्रीत ने मैच के बाद कहा कि जब हम बल्लेबाजी कर रहे थे तो मैं नर्वस थी लेकिन साथ ही जानती थी कि गेंदबाजों के लिये भी कुछ होगा। उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि खिलाड़ी अपनी फिटनेस पर काम कर रही हैं। उन्होंने कहा कि यहां आने से पहले हमने अपनी फिटनेस पर काफी काम किया और मैदान पर इसका नतीजा हमें मिला। हमने जिस तरह का क्षेत्ररक्षण और गेंदबाजी की, उससे मैं खुश हूं। हरमनप्रीत ने कहा कि फिर भी टीम को कई क्षेत्रों विशेषकर बल्लेबाजी में सुधार की जरूरत है। 

इसे भी पढ़ें: जसप्रीत बुमराह ने कहा, चोट से उबरने के बाद करूंगा मजबूत वापसी

तीस साल की खिलाड़ी ने कहा कि काफी चीजों में सुधार करना है। बल्लेबाजी में काफी सुधार की आवश्यकता है। हम एक अतिरिक्त बल्लेबाज के साथ खेल रहे हैं, इसलिये अगर बल्लेबाज अच्छा कर सकते हैं तो हम और भी बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं। हरमनप्रीत ने कहा कि उन्होंने राधा यादव पर भरोसा किया कि वह अंतिम ओवर में अच्छा करेंगी जो वाकई में दो विकेट चटकाकर इस पर खरी उतरीं। 

इसे भी पढ़ें: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला में नहीं खेल पाएंगे बुमराह, उमेश को मिला मौका

दीप्ति ने कहा कि हमने वैसी ही गेंदबाजी की जिसकी मैंने योजना बनायी थी। हमें विकेट से भी मदद मिली। दक्षिण अफ्रीकी टीम की कप्तान सुने लुस ने कहा कि 130 रन के लक्ष्य को हासिल किया जा सकता था लेकिन वे ऐसा नहीं कर सके। उन्होंने कहा कि हमारे गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की, उन्होंने हमारे लिये अच्छा मंच प्रदान किया। हमने सोचा कि 130 रन के लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। लिजले ली ने अच्छा मंच दिया। लेकिन उनके बाद जो बल्लेबाज आयीं, वे योजना का कार्यान्वयन नहीं कर सकीं। दीप्ति और स्पिनरों ने जैसी गेंदबाजी की, उसे देखते हुए आप कह सकते हो कि शाम होते ही पिच ज्यादा स्पिन करने लगी।



Source link

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here