चार्टर्ड अकाउंटेंट बनाने की राह इस इंस्टीट्यूट की मदद से होगी आसान

0
38





पढ़ाई में एक्टिव युवाओं की जब करियर चुनने की बात आती है तो उनका रुझान डॉक्टर व इंजीनियर की ओर होता है लेकिन इन सबके बीच युवाओं का एक बहुत बड़ा ग्रुप ऐसा भी है जो चार्टड अकाउंटेंट बनना चाहता है। इसके साथ ही पिछले कुछ वर्षों से मल्टीनेशनल कंपनियों के भारतीय बाज़ार में आने से जॉब के क्षेत्र में काफी विस्तार भी हुआ है।

क्यों सीए है एक बेहतर करियर ऑप्शन:

चार्टर्ड अकाउंटेंसी किसी भी बिजनेस या कंपनी से जुड़ा सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्र होता है। हर कंपनी को विभिन्न प्रकार के व्यापारिक लेखा-जोखा रखने के साथ ही, प्रोग्रेस के लिए रचनात्मक विचारों की आवश्यकता होती है। ऐसे में कंपनी को सुचारु रूप से चलाने में चार्टर्ड अकाउंटेंट की बहुत बड़ी भूमिका होती है। तो अगर आप भी सीए के क्षेत्र में एक सफल करियर तलाश रहे हैं जानिए सीए बनने की पूरी प्रक्रिया को।

चार्टेंड अकाउंटेंट बनने की पूरी प्रक्रिया में 3 चरण शामिल हैं; CA फाउंडेशन, इंटरमीडिएट, आर्टिकलशिप और CA फाइनल। जिसमें लगभग 5 साल का समय लगता है, लेकिन छात्र की तैयारी और रणनीति अगर सही हो तो इस पूरी प्रक्रिया को 4 साल में ही किया जा सकता है। आइये जानते हैं सीए करने की सही प्रक्रिया को जिससे कम समय में लक्ष्य प्राप्त कर छात्र नौकरी का बेहतर हकदार भी बन सकता है।

स्टेप वन
सीए फाउंडेशन कोर्स

सीए बनने का पहला स्टेप CA फाउंडेशन है, इच्छुक छात्र 10th पास करने के बाद सीए कोर्स के एंट्रेंस टेस्ट सीए फाउंडेशन कोर्स के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। लेकिन ये परीक्षा विद्यार्थी 12th पास करने के बाद ही दे सकते हैं। इससे पहले इस एग्जाम का रजिस्ट्रेशन छात्र 12th पास करने के बाद ही कर सकते थे, लेकिन नई प्रक्रिया आने के बाद इसका रजिस्ट्रेशन 10वीं की परीक्षा पास करने के बाद ही किया जा सकता है।

स्टेप टू
सीए इंटरमीडिएट कोर्स

CA फाउंडेशन परीक्षा पास करने के बाद दूसरे स्टेप में छात्र सीए इंटरमीडिएट कोर्स के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। सीए इंटरमीडिएट की परीक्षा 2 ग्रुप में होती है जिसमें 8 पेपर होते है। इस स्टेप में छात्र अपनी मर्जी से चाहे तो दोनों ग्रुप की परीक्षा साथ दे सकता है या फिर अलग अलग भी दे सकता है। अगर कम समय में इस परीक्षा को क्लियर करना चाहते हैं तो उसके लिए सही तैयारी जरूरी है। इसके लिए एक अच्छे इंस्टीट्यूट का चयन करना जरूरी है जहां बेहतर शिक्षा प्रणाली के साथ छात्रों को सही मार्गदर्शन मिल सके।

ऐसे में जयपुर में स्थित विद्या सागर करियर इंस्टीट्यूट (VSI) देश भर सीए शिक्षा संस्थान में सबसे मशहूर है, जहां देश ही नहीं बल्कि मस्कट जैसी कई विदेशी जगहों के विद्यार्थी CA बनने की इच्छा लेकर कोचिंग लेने आते हैं। VSI में छात्रों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए हिन्दी और इंग्लिश मीडियम के अलग अलग बैच में क्लासेज दी जाती हैं। इसके साथ ही परीक्षा के समय हिन्दी व इंग्लिश दोनों ही भाषाओं में नोट्स भी उपलब्ध करवाए जाते हैं। इन्हीं सब सहूलियतों की वजह से यहाँ पर कोचिंग ले रहे छात्र दोनों ग्रुप के पेपर अन्य छात्रों की अपेक्षा कम समय में ही क्लियर कर लेते हैं। इस तरह छात्र एक ही समय पर दोनों ग्रुप क्लियर करके 6 महीने का समय सीए इंटरमीडिएट में भी बचा सकते हैं।

स्टेप थ्री FC
CA फाइनल कोर्स और आर्टिकलशिप

फाइनल प्रक्रिया में छात्र CA इंटरमीडिएट के दोनों ग्रुप या एक ग्रुप को पास करने के बाद अपनी प्रेक्टिकल ट्रेनिंग यानी आर्टिकलशिप शुरू कर सकते हैं। ये प्रेक्टिकल ट्रेनिंग 3 वर्ष की होती है, लेकिन अगर विद्यार्थी चाहे तो 2.5 साल की ट्रेनिंग के बाद भी फाइनल एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। फाइनल एग्जाम में भी दो ग्रुप होते हैं जहां विद्यार्थी अपनी इच्छा और तैयारी की अनुसार परीक्षा में बैठता है। छात्र चाहे तो दोनों ग्रुप की परीक्षा एक साथ या अलग अलग दे सकते है। इस तरह से 2.5 साल की ट्रेनिंग और दोनों ग्रुप की एक साथ परीक्षा देने से विद्यार्थी 1 वर्ष का समय बचा सकता है।

4 वर्ष में CA करना तभी मुमकिन है जब छात्र प्लानिंग के साथ मेहनत और लगन से पढ़ाई भी करे। इन सब के साथ ही एक अच्छे संस्थान से कोचिंग लेना भी बेहद जरूरी है, क्योंकि पढ़ाई करना आसान है लेकिन सही तरीके से करना ये कम ही लोग जानते हैं।

CA बनने के लिए अच्छी व आधुनिक शिक्षण प्रणाली की भी जरूरत होती है। इसलिए एक सफल करियर के लिए हमेशा बेहतर इंस्टीट्यूट को चुनना चाहिए, जो बेहतर शिक्षा प्रणाली के चलते आपको प्रतिष्ठित नौकरी का उम्मीदवार भी बनाए। बीते 8 वर्षों के सीए रिज़ल्ट पर नज़र डालें तो VSI भारत का एकमात्र संस्थान है जिसने पिछले 8 वर्षों में CA में 5 बार ऑल इंडिया 1st रैंक दी है। इसी बात ये से अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि ये इंस्टीट्यूट अपने सभी छात्रों को पढ़ाई में गुणवत्ता और उचित मार्गदर्शन प्रदान करता है। CA Exams में 2 बार Ever Highest Marks देने का रिकॉर्ड भी VSI के नाम ही है। इसी कारण से विभिन्न क्षेत्रों से छात्र यहाँ कोचिंग लेने आते हैं।

विद्या सागर करियर इंस्टीट्यूट VSI बना सीए बनने वाले छात्रों की पहली पसंद:

VSI में सभी छात्रों की पढ़ाई पर ख़ास ध्यान दिया जाता है जिस वजह से यहाँ के छात्र बाकी छात्रों की अपेक्षा ज्यादा तैयारी के साथ परीक्षा में बैठते हैं।

पहले से तैयारी- 11वीं और 12वीं से ही छात्रों को सीए की पढ़ाई के लिए तैयारी करवाई जाती है, ताकि छात्र शुरुआती स्तर से ही इस परीक्षा के लिए अपनी बुनियाद मजबूत कर सकें।

मॉक टेस्ट सीरीज़- हर लेवल की परीक्षा के अनुसार माहौल छात्रों को नियमित रूप से Mock Test सीरीज़ प्रदान की जाती है।

एक्सट्रा क्लास की सुविधा- छात्रों की सहूलियत के हिसाब से एक्सट्रा क्लास भी दी जाती हैं, ताकि कोर्स के प्रति हर समस्या का समाधान हो सके।

बेहतर प्रशिक्षक प्रणाली- यहाँ प्रसिद्ध एवं प्रशिक्षित प्रोफेशनल्स द्वारा क्लासेज उपलब्ध करवाई जाती हैं ताकि पढ़ाई की बेहतर तकनीक के साथ छात्रों में स्किल्स को बढ़ाया जा सके।

इसके साथ ही CA Exams में 3 बार Ever Highest Marks देने का रिकॉर्ड भी विद्या सागर इंस्टीट्यूट जयपुर के नाम ही है। ऐसे में अगर आप भी 4 वर्षों में सीए बनने की इच्छा रखते हैं तो एक ऐसे शिक्षण संस्थान का चुनाव करें जो छात्र के टेलेंट के स्टैंडर्ड के हिसाब से उसे ट्रेन करे।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


The way to become a chartered accountant will be easy with the help of this institute



Source link

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here