कृत्रिम पैर लगते ही 5 साल का बच्चा अस्पताल में झूमा, ट्विटर पर 50 हजार लोगों ने देखा वीडियो

0
135





काबुल. अहमद सैय्यद रहमान जब 8 माह का था तब उसके पैर में गोली लग गई थी। इसमें उस मासूम का कोई कसूर नहीं था। लोगार प्रांत पर कब्जे को लेकर अफगान सेना और तालिबान के बीच खूनी संघर्ष छिड़ा था। अनजाने में बच्चा उसका शिकार बन गया। उसका पैर काटना पड़ गया। उसके बाद का दौर अहमद के लिए कुछ अच्छा नहीं रहा। कई बार कृत्रिम पैर लगाए गए, लेकिन फिटिंग ठीक नहीं बैठी। लेकिन इस बार खुदा की रहमत उस पर बरसी और डॉक्टरों की कोशिश रंग ले आई। कृत्रिम पैर लगाने के बाद डॉक्टरों ने अहमद से चलने को कहा। बच्चा जमीन पर उतरा और जब उसे यकीन हो गया कि पैर ठीक है तो वह खुशी से झूमने लगा।

  1. अस्पताल का वातावरण अक्सर बोझिल ही होता है, लेकिन अहमद की खुशी देखकर दर्द से कराह रहे मरीज भी मुस्कुरा उठे। अस्पताल की एक चिकित्सक मुलकारा रहीमी ने सोमवार को अहमद का वीडियो बनाकर ट्विटर पर डाल दिया।

  2. आलम यह है कि यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका है। अब तक 50 हजार लोगों ने वीडियो देखा है। इस पर 10573 री-ट्वीट आ चुके हैं और 34 हजार 742 लोगों ने इसे लाइक किया।

  3. अहमद का खुशी से झूमना लोगों को काफी रास आया। यही वजह रही कि लोगों ने भावुक होकर सोशल मीडिया पर बच्चे की खुशी में खुद को शामिल किया। शेरोन ने लिखा, बच्चे को देखकर कितना अच्छा महसूस हो रहा है, जबकि जेम. आर का कहना था कि जीत की यह मुस्कान जीवन की सारी मुश्किलों पर भारी है। अभी भी लोग अपने-अपने तरीके से बच्चे की खुशी पर प्रतिक्रिया जता रहे हैं।

  4. अहमद की मां रईसा ने कहा कि उसे बेहद खुशी है कि बेटा अपने पैरों पर चल फिर पा रहा है। उनका कहना है कि अब वह अपनी जिंदगी जी सकेगा। मां का कहना है कि तालिबान और सरकार के बीच हुई लड़ाई में अहमद और उसकी बहन को गंभीर चोटें लगी थीं। पिछले चार साल से अहमद का उपचार काबुल के रेडक्रॉस सेंटर में किया जा रहा था।

  5. काबुल में स्थित रेड क्रॉस सेंटर की चिकित्सक सेमीन सरवारी का कहना है कि अहमद को हर साल नए पैर की जरूरत पड़ेगी, क्योंकि साल दर साल वह लंबा होगा। दूसरे पैर की लंबाई के मुताबिक उसे कृत्रिम पैर बनाकर देना होगा।

  6. अफगानिस्तान में चल रही लड़ाई की वजह से केवल 2018 में ही 3804 नागरिकों की जान जा चुकी है। इसमें 9 सौ से ज्यादा बच्चे शामिल हैं। जबकि 7 हजार से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      अहमद सैय्यद रहमान।



      और पढ़ें

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here