एयर इंडिया ने जेट के बोइंग विमानों को लीज पर लेने की इच्छा जताई, चेयरमैन ने एसबीआई को पत्र लिखा

0
176





मुंबई. एयर इंडिया ने कर्ज संकट से गुजर रही एयर लाइन जेट एयरवेज के पांच बोइंग 777 को लीज पर लेने की इच्छा जाहिर की है। इस संदर्भ में एयर इंडिया के चेयरमैन अश्विनी लोहानी ने एसबीआई प्रमुख रजनीश कुमार को पत्र लिखा है। एयर इंडिया इन विमानों को लंदन, दुबई और सिंगापुर के रूट पर चलाना चाहती है।

  1. जेट एयरवेज के दस बोइंग 777-300 प्लेन समेत कुछ ए330 एयरबस भी पिछली रात से खड़े हैं। जेट इनका उपयोग मध्यम और लंबी अंतरराष्ट्रीय उड़ान में कर रहा था। इनमें लंदन, एम्सटर्डम और पेरिस के साथ नई दिल्ली और मुंबई की कनेक्टिंग फ्लाइट भी शुमार है।

  2. एयर इंडिया के चेयरमैन अश्विनी लोहानी ने लिखा, ”हम मैदान में खड़े बोइंग 777 विमानों के संचालन को लेकर संभावनाएं तलाश रहे हैं। इनका इस्तेमाल कुछ समय पहले तक जेट के द्वारा विशेष रूट पर किया जा रहा था।”

  3. जेट एयरवेज फिलहाल एसबीआई के नेतृत्व वाले कर्जदाताओं के समूह के प्रबंधकीय नियंत्रण में है। इसके द्वारा योग्य निवेशकों को 32.1 से 75 फीसदी तक की हिस्सेदारी दिए जाने की बात कही जा रही है। एतिहाद एयरवेज, सोवेरियन वेल्थ फंड एनआईआईएफ और टीपीजी कैपिटल और इंडिगो पार्टनर्स ने निवेश की इच्छा जताई है।

  4. चेयरमैन लोहानी ने कहा, ”नेशनल कैरियर होने के नाते हम अपनी जिम्मेदारी मानकर कुछ बोइंग 777 के संचालन के लिए संभावनाएं तलाश रहे हैं। हमें यात्रियों को होने वाली असुविधा को कम करने में खुशी होगी। एयर इंडिया बोइंग 777 को एसबीआई से आपसी सहमति से लीज पर लेने के लिए विचार कर रहा है।”

  5. सरकार ने जेट एयरवेज के अस्थायी रूप से सेवाएँ बंद करने के बाद दिल्ली और मुंबई में खाली हुये उसके 443 स्लॉटों का आवंटन अन्य विमान सेवा कंपनियों को करने का फैसला किया है। नागर विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरोला ने गुरुवार को हवाई अड्डा संचालकों और विमान सेवा कंपनियों के साथबैठकें की। उन्होंने बताया कि मुंबई में 280 और दिल्ली में 163 स्लॉट खाली हुये हैं। यात्रियों को परेशानी से बचाने और किराये को नियंत्रण में रखने के उद्देश्य से, ये स्लॉट दूसरी विमान सेवा कंपनियों को देने का फैसला किया गया है।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      प्रतीकात्मक फोटो।



      Source link

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here