अपूर्वा ने रिश्ते सुधारने के लिए कराया था तांत्रिक से अनुष्ठान, लेकिन नहीं पड़ा फर्क

0
119





नई दिल्ली.रोहित मर्डर केस में रोज नए खुलासे हो रहे हैं। अब पता चला है कि अपूर्वा ने इंदौर जाकर रोहित से रिश्ते सुधारने के लिए तंत्र-मंत्र की शरण ली थी। अपूर्वा की मां मंजुला शुक्ला के अनुसार पति-पत्नी के बीच झगड़ा होने के बाद अपूर्वा अपने घर इंदौर आ गई थी। वह 3 से 29 मार्च तक मायके में ही रही। इसी दौरान अपूर्वा की मां मंजुला ने किसी के कहने पर एक तांत्रिक से संपर्क किया।

उन्होंने तांत्रिक को पूरा मामला समझाते हुए बताया था कि बेटी के घर में बहुत क्लेश चल रहा है। पति-पत्नी के बीच बहुत झगड़ा होता है, इसी वजह से उनकी बेटी मायके में हैं। तांत्रिक ने मंजुला की सारी बात सुनने के बाद उसे बताया कि दोनों के बीच तनाव गहराता जा रहा है। इसे शांत करने के लिए विशेष पूजा-पाठ और अनुष्ठान कराना होगा। मंजुला ने तांत्रिक की बात मानकर मार्च में ही अपने घर पर अनुष्ठान कराया था, लेकिन उसका भी उन्हें कोई फायदा नहीं हुआ और मंजुला ने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा कि उनकी बेटी एक दिन खुद अपने सुहाग का खून कर देगी। हालांकि इन सब बातों के बीच रोहित की मां उज्जवला ने भी अपूर्वा पर कई तरह के आरोप लगाए हैं।

कोर्ट ने नहीं मानी अलग बैरक देने की गुजारिश

रोहित शेखर मर्डर मामले में शुक्रवार दोपहर काे क्राइम ब्रांच ने अपूर्वा शुक्ला को साकेत कोर्ट में मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट दीपक सहरावत की बेंच में पेश किया, जहां उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। हालांकि अपूर्वा को तिहाड़ जेल मेें अलग बैरक में रहने की अपील की थी, जिसे ठुकरा दिया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि गिरफ्तार होने के बाद अपूर्वा के चेहरे पर पछतावा नजर आ रहा है। बता दें कि रोहित तिवारी की हत्या के आरोप में अपूर्वा को 24 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था। शुरू से ही अपूर्वा परिवार के लोगों को भी गुमराह करती रही।

पति की मौत पर बीमारी का पर्दा डाला और दुख की घड़ी में परिवार के साथ खड़े रहने का नाटक करती रही। वह रोहित के अंतिम संस्कार से लेकर हरिद्वार में अस्थि विर्सजन के समय सास उज्जवला शर्मा के साथ थी। रोहित की मां उज्जवला शर्मा का कहना है कि इस दौरान भी अपूर्वा उसकी सेवा करने की बात कहती रही। अब जब इस हत्याकांड में अपूर्वा की गिरफ्तारी हो गई है, तो उज्जवला शर्मा ही सबसे ज्यादा हैरान परेशान हैं। उन्हें इस बात का दुख ज्यादा है कि अपूर्वा ने उनके सरल स्वभाव के साथ खिलवाड़ किया। इस मामले को लेकर उज्जवला शर्मा ने कहा अभी क्राइम ब्रांच मामले की जांच कर रही है। हम लोग इस बात की कल्पना भी नहीं कर सकते थे कि पति को मारने के बाद भी वह उसका चरित्र हनन कर सकती है।

11 महीने में 2 बार कानूनी नोटिस भेजे थे अपूर्वा ने

रोहित शेखर तिवारी की मां उज्ज्वला ने कहा कि उन्होंने अपने बेटे को अपूर्वा को लेकर चेताया था, लेकिन उसने उनकी बातों पर कोई ध्यान नहीं दिया। उनके बेटे को मार कर अपूर्वा ने पूरे परिवार को खत्म कर दिया। उज्ज्वला ने बताया कि शादी के कुछ दिनों बाद ही रोहित को छोड़कर जाने के बाद अपूर्वा ने रोहित को 2 बार कानूनी नोटिस भेजा। वह रोहित को मां का बेटा कहती थी। वह कहती हैं अभी तक जो कुछ प्रमाण सामने आए हैं और अपूर्वा ने गुनाह कबूला उससे तो संशय की गुंजाइश ही नहीं बचती। रोहित की रहस्यमय हालात में मौत होने के बाद अपूर्वा ने मीडिया से कहा था वह तो अब यही चाहती हैं कि रोहित की आत्मा को शांति मिले।

बेंगलुरु की एक युवती से होनी थी रोहित की शादी

रोहित की मां (80) साल की उज्ज्वला ने बताया कि उन्होंने बेटे की शादी बेंगलुरु की एक युवती से तय की थी लेकिन अपूर्वा रोहित पर शादी के लिए दबाव बना रही थी। शुरुआत में जब अपूर्वा ने अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षाएं शेयर कीं तो रोहित ने अपूर्वा से दूरी बना ली थी। उज्जवला ने कहा कि शादी से पहले जब वह पहली बार हमारे घर आई तो मैंने रोहित को सचेत रहने को कहा था। तब अपूर्वा ने पूछा था कि क्या वह हमारे घर में एक कमरे में शिफ्ट हो सकती है? मैं काफी हिचक रही थी लेकिन आखिरकार रोहित इसके लिए तैयार हो गया था। अपूर्वा ने हमारी अच्छाई को कमजोरी समझ लिया। उन्होंने कहा अगर अपूर्वा पर लगे आरोप सही पाए जाते हैं और वे कोर्ट में सिद्ध होते हैं तो उस स्थिति में उसे कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें



Source link

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here